Best Programming Languages to Learn for the Job and Futur : नौकरी और भविष्य के लिए सीखने के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रोग्रामिंग भाषाएं

आज के टाइम में जॉब और फ्यूचर्स को के लिए जो मोस्ट इम्पॉर्टेन्ट स्किल्स है उनमें कंप्यूटर प्रोग्राम लिखना भी शामिल है। यानी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज लोड करना आपके करियर के लिए सपोर्टिव हो सकता है और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के इतने सारे ऑप्शंस भी उपलब्ध है कि आप अपनी रिक्वायरमेंट और स्कोप के अकॉर्डिंग अपने लिए बेस्ट ऑप्शन को सिलेक्ट कर सकते हैं और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने के लिए जिसतरह ओनर रीसोर्सेस की भरमार हुई है। उससे भी आपको बहुत आसानी से लर्निंग का चांस मिल ही जाएगा। यानी कि आगे का रास्ता क्लियर है। बस उस पर चलने की देर है तो बस फिर देर किस बात की अगर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज learn करना चाहते हैं ताकि आपको जॉब और फ्यूचर में मिल सके तो इस ब्लॉग को जरूर देखिएगा ताकि आपको पता चल सके कि आपको कौन सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज यूज करनी चाहिए जो आपके लिए बेस्ट साबित हो सके। तो चलिए शुरू करते हैं पहली प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से जुड़े कुछ बेसिक्स को जान लेते हैं ताकि आपके लिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज वालों को समझना ज्यादा आसान हो जाए। 


जैसे कि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज इसके दो लेवल होते हैं। लो लेवल लैंग्वेज और हाई लेवल लैंग्वेज। लो लेवल लैंग्वेज बाइनरी कोन यानी सीरो और वन में रीप्रेजेंट होती है जो मशीन इंस्ट्रक्शंस होते हैं। ये लैंग्वेज मशीन फ्रेंडली होती है और मशीन लेवल लैंग्वेज और असेम्बली लेवल लैंग्वेज इस लो लेवल लैंग्वेज के टाइप्स होते हैं। वहीं हाई लेवल लैंग्वेज यूजर फ्रेंडली होती है और इसे सिम्पल इंग्लिश में लिखा जाता है। इसे लोड करना आसान होता है, लेकिन इसमें कम्पाइलर की जरूरत पड़ती है जो हाई लेवल लैंग्वेज को मशीन इंस्ट्रक्शंस में कनवर्ट कर सकती है। पाइथन , जावा , सी++ , इसके एग्जाम्पल्स हैं।


अब लैंग्वेज की प्रोग्रामिंग के डिफरेंट टाइप्स भी होते हैं, जिनके बारे में पता चल जाए तो लर्निंग प्रोसेस और भी आसान हो सकता है। इसलिए आइए इनके बारे में थोड़ी जानकारी तो ले ही लेते हैं और ये डिफरेंट टाइप्स हैं


1. Procedure programming language.

प्रोसीजर्स प्रोग्रामिंग लैंग्वेज इसमें एक प्रोग्राम बनाने के लिए वैलिड स्ट्रक्चर्ड प्रोसीजर्स और स्टेप्स होते हैं। अडोबी ,ड्रीमवीवर ,बेसिक से ही जावा ,पास्कल और पोर्ट इसकेexaompहै।


 2. functional programming language.

 ये प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज स्पेशली, सिम्बोलिक कंप्यूटेशन और लिस्ट प्रोसेसिंग ऐप्लिकेशंस को हैंडल करने के लिए डिजाइन की गई है और ये mathematical फंक्शंस पर बेस्ड होती है। Lisp python erlang haskell clojure इस तरह के लैंग्वेजेज है। 


3. Objected oriented programming language 

ये प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ऑप्टिक्स पर बेस्ड होती है। ऑप्टिक्स यानी यूनिट्स जिनमें डेटा होता है जावा सी++, तीन हैश पाइथन, जावा स्क्रिप्ट इसी तरह की प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज है। 


4. scripting programming language.

स्क्रिप्टिंग लैंग्वेजेस कमांड्स की ऐसी सिरीज होती है जिसे बिना कम्पाइलर के एग्जिक्यूट किया जा सकता है। यानी कंपाइलेशन स्टैक नहीं होता है क्योंकि स्क्रिप्टिंग लैंग्वेजेस इंटरप्रेटर प्रोग्राम का यूज करती है जो कमांड्स को ट्रांसलेट करता है और डिजिटली सोर्स कोड से इंटरप्रिटेशन हो जाता है। जावा, स्क्रिप्ट, पीएचपी और पॉल इसके एग्जाम्पल्स हैं।


5. Logic programing

इसमें प्रोग्रामर को कंप्यूटर को instructions देने होती है कि वो कैसे मैथमेटिकल लॉजिक का यूज करके डिसीजंस ले जैसे कि मैथेमैटिकल अल्गोरिदम का यूस प्रो। लोग एसएपी और डेटा लॉक किसी तरह की लॉजिक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है 


Top 8 programming languages.


python

नंबर एक पर है python beginners के लिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जोड़नी शुरू करने के पर्पस से ये बेस्ड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज मानी जाती है, क्योंकि इसे यूज करना और learn करना आसान है और ये काफी फास्ट है। इसलिए अगर मोर एक्सेसिबल और पॉप्युलर कोडिंग लैंग्वेजेस में से कोई लैंग्वेज अब सीखना चाहती हैं तो वो पाइथन हो सकती है। बहुत से स्टार्टअप्स इस लैंग्वेज का यूज करते हैं और यूट्यूब इंस्टाग्राम और पिनट्रेस्ट भी तो पाइथन का यूज करके ही बने हैं। EI इंडस्ट्री डेटा साइट्स में एंट्री के लिए ये बेस्ट च्वॉइस हो सकती है और वेब डेवलपमेंट के लिए भी इसका यूज किया जाता है। हालांकि मोबाइल कंप्यूटिंग के लिए सूटेबल लगी होती है। 



Java

नंबर दो पर है java अगर आपका इरादा लार्ज ऑर्गेनाइजेशन में एक सॉफ्टवेयर डेवलपर की पोजिशन पर पहुंचने का है तो जावा आपकी शुरुआती प्रोग्रामिंग लैंग्वेज लर्निंग का हिस्सा हो सकती है। Android app डेवलपमेंट में भी इस लैंग्वेज का बहुत यूज होता है और हर तरह के बिजनेस को एंड्रॉयड एप्लिकेशन की जरूरत तो होती ही है क्योंकि एन्ड्रॉइड यूजर्स की संख्या तो बिलियन में है। ऐसे में जावा डेवलपर्स को ग्रेट opportunity मिल सकती है। डिस्ट्रीब्यूटेड कंप्यूटिंग के लिए ये लैंग्वेज आइडियल है लेकिन सी और सी++ लैंग्वेजेस के कंपैरिजन में ये। स्लो है। 



C and C++

नंबर तीन पर है सी एन सी++ प्रोग्रामिंग में इन दोनों लैंग्वेजेज की काफी मजबूत धाक है क्योंकि ऑपरेटिंग सिस्टम और फाइल सिस्टम जैसे ज्यादातर दो लेवल सिस्टम इन्हीं लैंग्वेजेस में लिखे गए है। इसलिए अगर आप सिस्टम लेवल प्रोग्रामर बनना चाहते हैं तो आपको ये लैंग्वेजेस जरूर से सीख लेनी चाहिए। इन लैंग्वेजेस के प्रोग्राम्स ज्यादा एफिशिएंट होते हैं और समझने में आसान भी लेकिन इन दोनों लैंग्वेजेस के सिंटेक्स कॉम्प्लेक्स होते हैं। इसलिए beginner के तौर पर इनसे शुरुआत करना तो शायद इतना फेवरेबल ना रहे। 



javascript

नंबर चार पर है javascript, interactive frontend application design करने में जावास्क्रिप्ट का बहुत यूज होता है और आजकल बहुत से स्टार्टअप्स node js भी इसका यूज करते हैं। ये जावा स्क्रिप्ट बेस्ड राइट टाइम एनवायरमेंट है। यानी अगर आप अपने फेवरिट स्टार्टअप के टैक जॉब करने का सोच रहे हैं तो ये लाइन भी जॉब की हेल्प जरूर करेगी। ये वेबसाइट के इंटरफेस को रिच बनाती है और हाईली वर्सटाइल लैंग्वेज है। इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का यूज सोशल साइट और क्लाइंट साइड स्क्रिप्ट में हो सकता है। 



Go

नंबर पाँच पर आती है गो गूगल की डिजाइन की गई प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है गो या गोलाई। ये क्लाउड बेस्ड सोशल साइड अप्लीकेशंस के लिए काफी फेमस है और ये भी कहा जा सकता है कि क्लाउड प्लेटफॉम्र्स को ये लैंग्वेज बहुत पसंद है। तभी तो एमेजोन वेब सबसे माइक्रोसॉफ्ट जोड़े और गूगल क्लाउड प्लैटफॉर्म इस लैंग्वेज को सपोर्ट देते हैं। इसलिए अगर आप क्लाउड प्रोग्रामिंग कर रहे हैं तो ये लैंग्वेज सीख लीजिए आपके लिए ग्रेट च्वॉइस बन सकती है। इसका क्लियर सिंटेक्स इसके लाने को आसान बनाता है और सिंगल पेज ऐप्लिकेशंस बिल्डिंग के लिए ये एक आइडियल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है और काफी फास्ट भी है। डिस्ट्रीब्यूटेड सिस्टम्स पर डिपेंड करने वाली कंपनीज इस लैंग्वेज का काफी यूज करती हैं और बहुत से स्टार्टअप्स भी। इसलिए अगर आप भी किसी ऐसे स्टार्टअप को ज्वाइन करना चाहते हैं जो कोर सिस्टम्स में स्पेशलाइजेशन रखता हो तो ये लैंग्वेज आपको सीख लेनी चाहिए। 



R language

नंबर छह पर है R डेटा एनालिसिस और मशीन लर्निंग में यूज होने वाली मोस्ट कॉमन लैंग्वेजेस में से एक है आल लैंग्वेज। ये लैंग्वेज पॉपुलर मशीन लर्निंग एल्गोरिदम डेवलप करने के लिए एक्सिलेंस फ्रेमवर्क और बेहतरीन लाइब्रेरीज को प्रोवाइड कराती है। इसका यूज जनरल स्टैटिस्टिकल कंप्यूटिंग में भी होता है। अब अगर आप एक लार्ज ऑर्गनाइजेशन की ऐनालिटिक्स टीम को ज्वाइन करना चाह रहे हैं तो आप इस लैंग्वेज को learn करने के बारे में सोच सकते हैं। 



PHP

नंबर सात पर है पीएचपी। ये मोस्ट पॉपुलर इन प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज में शामिल है और वेल स्टैब्लिश एड ऑर्गनाइजेशन में बैंकिंग डेवलपर की जॉब चाहते हैं तो आप भी लैंग्वेज सीख सकते हैं। हालांकि पीएचपी को पाइथन और जावा स्क्रिप्ट से काफी टफ कॉम्पिटिशन मिल रहा है, लेकिन फिर भी मार्केट को बहुत से पीएचपी डेवलपर्स की जरूरत है। इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में वैब पेजेस बनाना काफी आसान है और इसमें काफी पॉपुलर वेब बुक्स मिलते हैं। हालांकि इसमें एरर हैंडलिंग पुअर होती है।



Swift

नंबर आठ पर आता है। स्विप यह आईपी को मैक ओएस टीवी ओएस वॉच ओएस और आई एस डवलपमेंट के लिए एक जर्नल प्रॉपर ओपन सोर्स प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है, जिसे एप्पल कंपनी ने क्रिएट किया था। इसे वैसे तो काफी आसान है। ये पासवर्ड कोई भी है और इसमें न्यू पिक्चर्स एड करना भी काफी आसान है। ये लैंग्वेज डवलपर्स को क्लीन और रीडेबल कोड लिखने के लिए एनकरेज करती है और अगर आई ओएस डेवलपमेंट आपके इंट्रेस्ट का प्वाइंट है तो इस लैंग्वेज की लर्निंग आपके लिए फ्रूट बुक साबित हो सकती है। नंबर नौ पर है स्वीट हैश एक जनरल परपस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है, जिसे माइक्रोसॉफ्ट ने डेवलप किया था। 


Post a Comment

Previous Post Next Post