End to End Encryption क्या है? (What is E2EE)

End to End Encryption क्या है? 

जैसा कि आप सब जानते हैं जब भी आप सब WhatsApp चलाते हैं तो आप उस पर End to End Encryption लिखा देख सकते हैं, परंतु बहुत से लोग यह नहीं जानते की इसका मतलब क्या होता है कुछ लोग इसके बारे में थोड़ा बहुत जानते हैं कि यह privacy के लिए काफी सुरक्षित माना जाता है और इससे पहुंचा गया message केवल भेजने वाले वह पढ़ने वाले को और मिलने वाले को ही दिखाई पड़ता है।



End to End Encryption Information 

आज हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी बताने जा रहे हैं आशा है कि आप इसे ध्यान पूर्वक पड़ेंगे।

End to End Encryption क्या है? (What is E2EE?)

इस प्रणाली में message को ऐसे रूप में बदला जाता है कि वह किसी तीसरे के समझ में ना आए।


End to End Encryption इस तरह काम करता है कि जब sender कोई message भेजता है तो वह एक ऐसे format में बदल जाता है जिसे केवल receiver का डिवाइस ही पढ़ने लायक बना पाता है, ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि आपका message कोई तीसरा व्यक्ति ना पढ़ पाए।

Communication कि इस तकनीक में आपका डाटा सिर्फ उसी के पास पहुंचता है, जिसको आपने यह भेजा है। End to End Encryption इसी तकनीक को कहा जाता है ।

सबसे अच्छी बात इसकी यह होती है कि आपके द्वारा ज्ञान मैसेज Encryption format में ही server पड़ जाता है फिर receiver के मोबाइल decrypitid होता है। मतलब आप जिस software का use कर रहे हो उनके owner तक आपकी चैट नहीं पढ़ सकते हैं।

End to End Encryption के फायदे?

1. Privacy

आपका data कोई accese नहीं कर पाएगा, यह इतना secure है कि जिस company से आपका internet चल रहा है इस company का का फोन है जिस company के messaging app का use कर रहे हैं उनमें से किसी को भी आपके चैटिंग की information नहीं मिल सकती।

2. Spy proof

सरकार में किसी भी प्रकार की निजी कंपनी आपके ऊपर किसी भी टाइपिंग जासूसी नहीं कर पाएगी अब किस टाइप की भी मैसेज भेज रहे हैं वह एकदम सिक्योर है उन्हें केवल आप ही पढ़ सकते हैं।

3. Data hacking से बचाव

एंड टू एंड इंक्रिप्शन में डाटा को अनलॉक करने के लिए केवल आपके पास ही private key होता है यदि कोई हैकर उसे सर्वर से हैक करके एक्सेस कर भी लें तो बिना एक्सेस की के उसे देख भी नहीं पाएगा।

End to End Encryption के नुकसान

हर अच्छी चीजें का बुरा प्रयोग पता नहीं कैसे हर इंसान को मिल जाता है End to End Encryption का भी लोगों ने कई तरीके से दुरुपयोग किया है, इसमें आपकी जानकारी secure होने के कारण लोग गलत अफवाहों व धरनाओ को बढ़ावा देते हैं बिना सरकार की नजर में आए।

हर तरह की गलत न्यूज़ वफाओं को बिना किसी की नजर में आए अपने स्वार्थ के लिए बढ़ावा देते हैं बिना किसी मॉनिटरिंग के।

हमारी सरकार वह पुलिस व्हाट्सएप के डाटा को नहीं देख सकती जिस कारण चोर व अन्य गैर कानूनी गतिविधि करने वाले लोग खुलेआम इस पर बातें करते हैं और अपने काम को अंजाम देते हैं।

कोन से app End to End Encryption प्रणाली का प्रयोग करते हैं?

  • Zoom
  • Signal
  • Viber
  • WhatsApp
  • Facebook Messenger
  • Telegram
  • Samsung Messages
  • Google Messages
  • Line आदि

इनके अलावा भी कई सारी एप्लीकेशन हैं जिन्हें हम लिस्ट में नहीं डाल पाए हैं।

Post a Comment

Previous Post Next Post