How to Become a Blockchain Developer with Full Informatio - पूरी जानकारी के साथ ब्लॉकचेन डेवलपर कैसे बनें।

Blockchain जो है वह IT industry की टॉप इमरजिंग टेक्नोलॉजी डोमेन में से एक है और यह केवल Bitcoin तक ही सीमित नहीं है बल्कि यह ऐसा डिजिटल लेजर है जो मल्टिपल कंप्यूटर्स पर ट्रांजैक्शंस को रिकॉर्ड करता है। इसका उपयोग bitcoin, etherium और other crypto currency को सिक्यॉरिटी से खरीदने, स्टोर करने और trend करने के लिए होता है। Blockchain को Bitcoin को सपोर्ट करने वाले Platform की तरह बनाया गया था, लेकिन Blockchain में जिस तरह के security और vercilty show की है। उसके बाद बहुत से बिजनेस सेक्टर जैसे 

  • Automotive banking and services,
  • real estate stock trading,
  • Cloud Computing,
  • supply chain management,
  • healthcare retailing,
  • consumer goods,
  • Telecommunication and Govt.

में भी इसका यूज करने लगे हैं। 



Blockchain ट्रांसपेरेंसी को बैटर बनाता है। सिक्योरिटी को एन्हांस करता है। कॉस्ट को रिड्यूस करता है। स्पीड को इम्प्रूव करता है और true possibility को show करता है जो हर बिजनेस की जरूरत होती है तो ऐसे में Blockchain टेक्नोलॉजी के इस रिवॉल्यूशनरी परफॉर्मेंस की बदौलत इस फील्ड में काफी स्कोप बढ़ गया है और करियर ऑपर्च्युनिटीज भी तेजी से इन्क्रीज हो रही है। यानी अगर इस फील्ड मैं आपका intrest और आप एक हाई डिमांडिंग जॉब करके हाई सैलरी पैकेज लेना चाहती है तो आप Blockchain डेवलपमेंट में अपना करियर बनाने के बारे में सोच सकते हैं। वो भी Blockchain Devloper के तौर पर और इसके लिए आपको कौन सा प्रोसेस फॉलो करना होगा। ये जानने के लिए आपको आज का ये ब्लॉग पूरा पढ़ना होगा जिसमें types of Blockchain डेवलपर्स भी है। रिस्पांसिबिलिटी भी है सैलरी पैकेज भी है। हाल से बाय स्टेप प्रोसेस भी है तो चलिए शुरू करतेहैं। 


सबसे पहले जानते हैं Blockchain Devloper के types Blockchain Devloper के दो types होते हैं। पहला हार्ड कोर Blockchain Devloper और दूसरा है Blockchain Software developer  



कोर Blockchain Devloper , 

प्रपोज्ड Blockchain सिस्टम के सिक्योरिटी और आर्किटेक्चर डिजाइन करता है। यानी कोर ब्लॉक चेन डेवलपर फाउनडेशन क्रिएट करता है। कोर Blockchain Devloper के तौर पर आपकी रिस्पांसिबिलिटी होंगी। आर्गेनाइजेशन को साइबर अटैक से प्रोटेक्ट करने के लिए सिक्योरिटी मेजर्स को सेट करना, Blockchain प्रोटोकॉल डिजाइन करना, नेटवर्क आर्किटेक्चर डिजाइन करना और entire नेटवर्क को सुपरवाइज करना. 


Blockchain Software developer  

उसको और वेब आर्किटेक्चर का यूज करके सेंट्रलाइज ऐप्स बनाता है। Software developer के तौर पर आपकी रिस्पांसिबिलिटी होंगी। स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट डेवलप करना उनके DApps को चलाने वाले पूरे stack का सुपरविजन करना, Blockchain से रिलेटेड बैंकिंग डेवलपमेंट पर ध्यान देना और DApps के लिए इंटरैक्टिव प्लांटिंग डिजाइन का डेवलपमेंट करना। 



Blockchain डेवलपर बनने के लिए आपको कौन कौन से स्टेप्स को फॉलो करना होगा।


1st step सबसे पहले अपना एकेडमिक बैकग्राउंड तैयार करें:-

Blockchain डेवलपर के तौर पर अपना करियर शुरू करने के लिए आपको कंप्यूटर साइंस या इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के फील्ड में एजुकेशनल बैकग्राउंड तैयार करना होगा, जिसके लिए आप स्ट्रीम से बैचलर या मास्टर्स डिग्री ले सकते हैं। वैसे तो Blockchain डेवलपर बनने के लिए कोई स्पेसिफिक डिग्री रिक्वायर्ड नहीं होती है, लेकिन इस फील्ड में करियर अपॉर्चुनिटी चाहते हैं तो आपको डिग्री कोर्स जरूर करना चाहिए। इसके अलावा ऐसे बहुत से ट्रेनिंग प्रोग्राम्स भी होते हैं, जिनमें पार्ट लेकर इस फील्ड में expertise हासिल की जा सकती है। दूसरे के टेक्निकल स्किल्स को इम्प्रूव करें। Blockchain डेवलपर बनने के लिए आपका कुछ स्पेसिफिक टेक्निकल स्किल्स में एक्सपोर्ट होना जरूरी है जो कि इस स्पीड की बेसिक रिक्वायरमेंट है और ऐसी कुछ स्किल्स हैं। डेटा स्ट्रक्चर्स आपको डेटा स्ट्रक्चर कॉन्सेप्ट पर अपनी कमांड बनानी होगी ताकि सिस्टम को डेवलप कर सके। इसके लिए आपको linked list, binary tree, graph और hashing जैसे बहुत से डेटा स्ट्रक्चर्स को समझना होगा। डेटाबेस नेटवर्किंग की बात करें तो Blockchain Devloper बनने के लिए आपको डेटाबेस एन नेटवर्किंग कॉन्सेप्ट के भी बेसिक एंड फंडामेंटल नॉलेज तो जरूर से लेनी होगी ताकि डिस्ट्रीब्यूटेड सिस्टम्स और अदर सोशल कॉन्सेप्ट के मैकेनिज्म को आप आसानी से समझ सके। प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेस आपको प्रोग्रामिंग कौन से स्पेशली OOPS कॉन्सेप्ट को समझना होगा और प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेस की जितनी अच्छी नॉलेज आपको होगी उतना ही आपके लिए डॉक्ट्रिन की Application को डेवलप करना आसान होगा। इसके लिए आप जावा, सी++ और पाइथन जैसी लैंग्वेजेस को सीख सकते हैं। 


अगला है क्रिप्टोग्राफी Blockchain डेवलपर बनने के लिए मोस्ट इम्पॉर्टेन्ट टेक्निकल स्किल्स में क्रिप्टोग्राफी भी शामिल है क्योंकि Blockchain डवलपमेंट के फाउंडेशन के लिए आपको बहुत से क्रिप्टोग्राफी कॉन्सेप्ट जैसे डिजिटल सिग्नेचर हैश फंक्शन और आरएसए अल्गोरिदम भी सीखने होंगे और आगे है। 


वेब डिजाइनिंग इन Developing प्रोसेस आपको वेब डिजाइनिंग और Developing प्रोसेस की भी नॉलेज होनी चाहिए, क्योंकि Blockchain Developing के कोर आस्पेक्ट्स में से एक होती है और इनकी हेल्प लेकर आप DApps को डेवलप करेंगे और APIS को हैंडल करेंगे। 


3rd step Blockchain टेक्नोलॉजी के बेसिक्स और cryptonomics को समझिए Blockchain डेवलपर बनने के लिए आप इसके technology की details को समझना होगा, जिसमें आज के वॉकिंग और Application की नॉलेज शामिल हो और Blockchain आर्किटेक्चर के अलावा कंसेंसस हैश, फंक्शन, डिस्ट्रीब्यूटेड, लेजर टेक्नोलॉजी जैसे कांसेप्ट की समझ भी हो, इसके लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन मिलने वाले tutorial ट्रेनिंग सेशन जनरल्स की हेल्प ले सकते हैं और जहां तक cryptonomics की बात है तो ये क्रिप्टो करेंसी इसके इकोनॉमिकल कॉन्सेप्ट्स को समझने के प्रोसेस से जुड़ा है। अब यूं तो क्रिप्टो करेंसी Blockchain टेक्नोलॉजी का एक बहुत छोटा सा पार्ट है, लेकिन Blockchain के बेसिक्स को समझने के लिए आपको इसके मैकेनिज्म को समझना होगा। 


4th step है DApps और ethereum के बारे में नॉलेज लीजिए। DApps यानी De Centralized Application ऐसे सॉफ्टवेयर सिस्टम्स होते हैं जो हम जैसे Blockchain प्लैटफॉर्म्स पर डेवलप किए जाते हैं और ethereum ऐसा Open Source Centralized Blockchain Network है जो स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स और DApps develope करने का Platform है। इसके versatile फंक्शनैलिटी इसे others प्लैटफॉर्म से यूनीक बनाती है। इसलिए Blockchain डेवलपर बनने के लिए आपको DApps और ethereum की भी साउंड नॉलेज लेनी होगी। 


5th step Experience लीजिए। 

दूसरे डेवलपमेंट के फंडामेंटल्स को समझने और टेक्निकल स्किल्स के साथ नॉलेज लेने के बाद बारी आती है। Experience गेन करने की ताकि आपके थ्योरेटिकल नॉलेज को प्रैक्टिकल में अप्लाई करके Experience गेन किया जा सके और आपके ब्राइट करियर को सपोर्ट करें। इसके लिए स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट लिखना अपना DApps develope करना शुरू कर सकते हैं। इसके अलावा बहुत से इंटर्नशिप और ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं।


6th step सर्टिफिकेशन का ऑप्शन चूज करें। Blockchain टेक्नोलॉजी से जुड़े नॉलेज को अगर आप एन्हांस करना चाहते हैं तो इससे रिलेटेड सर्टिफिकेशन में से सूटेबल सर्टिफिकेशन जरूर से कंप्लीट करें ताकि आपकी लर्निंग और स्किल्स का लेवल भी हाई हो सके और आपके लिए बेस्ट करियर अपॉर्चुनिटी ग्रैब करना पहले से ज्यादा आसान हो जाए। वैसे ऐसा कुछ ऑप्शन है IBM Blockchain Certification , Certified Blockchain Solution architect (CBSA )


इंडिया के टॉप टेन Blockchain Developing companys के नाम भी हम जान लेते हैं। 

  1. Hyperlink InfoSystem
  2. Accenture
  3. Fueled
  4. Infosys
  5. Capgemini India Pvt ltd
  6. Tata Consultancy Services
  7. Zensar Technologies
  8. WillowTree Apps
  9. Tech Mahindra
  10. HData Systems

में मिलने वाला सैलरी पैकेज चाहे तो ये भी काफी अच्छा है। इंडिया में Blockchain Devloper की सैलरी 5 लाख से 30 लाख पर तक हो सकती है, जो आपके Experience और स्किल सेट पर बेस्ड होती है। हैलो एक अच्छा सैलरी पैकेज जो आपको जल्द से जल्द ज्यादा से ज्यादा स्किल्ड बनने के लिए इनकरेक्ट तो जरूर करेगा तो दोस्तों आपके पास Blockchain डेवलपर बनने से जुड़ी सारी जानकारियां गई हैं, जिसकी मदद लेकर आप एक Blockchain Devloper के तौर पर अपना करियर शुरू करने के लिए तैयार हो सकते हैं।

Post a Comment

Previous Post Next Post