What is Domain? - Domain क्या होता है?

 

 Domain क्या होता है?

सरल भाषा में कहा जाए तो डोमिन एक ऐसा नाम होता है जिसे हम ब्राउज़र में देख पाते हैं इसका कार्य मूल रूप से IP को नाम में परिवर्तित करना होता है, ताकि यह याद करने में अधिक सरल हो क्योंकि IP को याद करना मुश्किल होता है। इसीलिए Domain का उपयोग किया जाता है एक Domain कई सारी आईपीएस को रेफर कर सकता है।


Domain क्यों जरूरी होता है?

यह इसी लिए जरूरी क्यों की जब भी आप किसी वेबसाइट पर जयते है जैसे youtube.com पर तो आप किसी नाम पर नहीं बल्कि एक IP पर जाते हैं जो कुछ ऐसी दिखती है - 208.65.153.238 ।
इसी लिए आप देखते होंगे की वह सभी डोमेन use करते है क्यों की अगर आप डोमेन use नहीं करेंगे तो आप अपने  visitors को कैसे बता पाएंगे की आप की website का internet पर कैसे खोजे। बिना नाम के आपकी website केवल एक आईपी पर काम करेगी जिसे याद रखना बहुत कठिन होता है ।
इसी लिए आप सभी को अपने वेंसी के लिए Domain जारर लेना चाहिए।

Domain कितने प्रकार का होता हैं?


Domain name कई प्रकार के होते है लेकिन हम इन्हें 3 Category में बाट सकते है -

1. TLD – Top Level Domains
2. CcTLD – Country Code Top Level Domains
3. Country Code Top Level Domains (CcTLD)

अगर देखा जाए आप इन Category के बारे में अच्छे से समझ लेते हैं तो आपको आने वाले समय में एक अच्छा चुनने में ज्यादा कठिनाई नहीं होगी।
तो चलिए अब हम इन तीनों  के बारे में अच्छे से जानते हैं।

1. TLD – Top Level Domains

Top Level Domain, domain के आखिरी हिस्से को यदि आपने देखा होगा तो आप देख पाएंगे कि https://www.modroid.com, “.com” हिस्सा एक Top Level Domain है। टॉप लेवल डोमेन Google Search Engine में बहुत आसानी से रैंक हो जाते है, इन्हे गूगल भी ज्यादा Importance देता है। कुछ Top Level Domain के उदहारण इस प्रकार है –


.com (Commercial)

.info (Information)

.org (Organization)

.net (Network)

.gov (Government)

.biz (Business)

.edu (Education)

2. CcTLD – Country Code Top Level Domains

Country Code Top Level Domains (CcTLD) भी एक प्रकार के Top Level Domains ही होते है, लेकिन इन डोमेन का Use आमतौर पर किसी देश के User को Target करने के लिए किया जाता है। अगर आप अपने किसी बिज़नेस को सिर्फ भारत में ही Grow करना चाहते है, तो आप .in का उपयोग कर सकते है। अब इसका मतलब यह नहीं है, की यह Globally रैंक नहीं करेगा। .in डोमेन भी वैश्विक स्तर पर Rank करता है।


कुछ लोगो का सवाल होता है, की क्या Country Code Top Level Domains (CcTLD) पर AdSense Approval मिल सकता है? तो आपको बता दें, की Country Code Top Level Domains पर आपको आसानी से AdSense Approval मिल जाता है, बस आपको वेबसाइट पर AdSense की Policy को ध्यान में रखकर Content लिखना चाहिए।


3. Country Code Top Level Domains (CcTLD) List


.in (India)

.us (United States)

.sg (Singapore)

.jp (Japan)

.nz (New Zealand)

.ch Switzerland

.cn China

.sa (Saudi Arabia)

.ru Russia

.au (Australia)

.uk (United Kingdom)

.br (Brazil)


Subdomain क्या होता है (What Is Subdomain in Hindi)


Subdomain आपके डोमेन का ही एक भाग होता है, Subdomain को बनाने के लिए आपको इसे कही से खरीदने की आवश्यकता नहीं होती है। जब भी आप एक Top Level Domains Name खरीदते है, तो उसी के जरिये आप अलग अलग Subdomain बना सकते है। अगर हम अपने ही डोमेन की बात करें, तो हमारा HindiDada.Com एक टॉप लेवल डोमेन है, अगर हम इसका Subdomain बनाना चाहे और उस पर हम इसी जानकारी को English में Provide कराएं।


तो इसके लिए हम अपने Domain को English.HindiDada.Com कर सकते है। इसके आगे लगा English शब्द एक Subdomain है। Subdomain बनाने के लिए आपको किसी भी तरह का कोई Charge नहीं देना पड़ता है। जिस Domain Provider से आप Domain खरीदते है, उसी के Dashboard में जाकर आप बिलकुल Free में अपने लिए एक Subdomain बना सकते है।


Post a Comment

Previous Post Next Post